सर्वश्रेष्ठ पौराणिक कथा कहानियाँ पढ़ें और PDF में डाउनलोड करें

द्रोणाचार्य और एकलव्य
द्वारा राजनारायण बोहरे

   एकलव्य एक बहादुर बालक था, वह जंगल में  रहता था, उसके पिता हिरण्यधनु उसे हमेशा आगे बढ़ने की सलाह देते थे। एकलव्य के आसपास हथियारों का बड़ा महत्व ...

लंका में गुप्तचर हनुमान
द्वारा राजनारायण बोहरे

                                                         लंका में गुप्तचर हनुमान              अयोध्या के राजकुमार राम की पत्नी सीता का हरण किसी ने पंचवटी नामक वन में उनकी कुटिया में से कर लिया था । ...

अधर्म धर्मराज का
द्वारा Ajay Amitabh Suman
  • 333

ऐसा कहा जाता है कि धर्मराज युधिष्ठिर के रथ का पहिया कभी भी धरती की संपर्क में नहीं आता था। ऐसा इसलिए, क्योंकि धर्मराज हमेशा धर्म में प्रतिष्ठित रहते थे। ...

आल्हा और ऊदल - दो योद्धाओं की वीर गाथा
द्वारा Abhishek Sharma - Instant ABS
  • 294

प्रिय पाठकों,आपने राजा - महाराजा, रानी - महारानी, सुल्तान - बेगम, सल्तनत, आदि के किस्से और कहानियां तो बहुत सुनें और पढ़े होंगे।इतिहास के पन्नों को पलटें तो बहुचर्चित ...

विश्वामित्र का घमण्ड
द्वारा राज बोहरे
  • 1.1k

पौराणिक कथा-                                                               विश्वामित्र का घमण्ड                      अयोध्या वाले दूत ने राम के  राज्याभिषेक का निमंत्रण  विश्वामित्र को सौंपा ।                पत्र पढ़कर विश्वामित्र गर्व से भर ...

सपना
द्वारा Saurabh kumar Thakur
  • (19)
  • 2.2k

कहानी है अभी से दो हजार साल पहले की,बिहार में एक राजा हुआ करते थे,उनका नाम था चंदन सिंह । वे पराक्रमी राजा थे । वे अपनी प्रजा को ...

रावण का श्राप
द्वारा Ajay Amitabh Suman
  • (32)
  • 4.7k

आज वाल्मीकि का मन घ्यान की गहराइयों में गोते नहीं लगा पा रहा था। उनके अनगिनत प्रयास असफल हो चुके थे। ब्रह्म मुहूर्त में स्नान करने के बाद अभी ...

दोषी कौन
द्वारा Ajay Kumar Awasthi
  • 1.2k

कितना सुंदर और प्रिय था सब कुछ । हर दिन मानो नया संदेश लेकर आता । उमंग और उल्लास।भरा होता अहल्या के रोम रोम में । ऋषि पत्नी अहल्या ...

नागिन (भाग - 4)
द्वारा HARSH SHAH _ WRiTER
  • (18)
  • 2.7k

नागिन (भाग - 4)"आदित्य उस दिन शिखा और विक्रांत को अपने साथ महेल में लेके आता है। आदित्य शिखा के सामने रानी बननेका का प्रस्ताव रखता है। शिखा उसी ...

आत्मा का राज़
द्वारा Ravi kumar bhatt
  • (46)
  • 2.3k

 बहुत समय पहले एक राजा था  उसे एक ऋषि का वरदान था की वह मृत व्यक्ति की आत्मा को शरीर से निकलते हुए देख सकता है परंतु ऋषि ने चेतावनी ...

महाभारत का नायक कौन?
द्वारा Ajay Amitabh Suman
  • (48)
  • 2.3k

आपके सामने जब भी प्रश्न पूछा जाता है कि महाभारत का नायक कौन है? तो आपके सामने अनेक  योद्धाओं के चित्र सामने आने लगते हैं। कभी आपके सामने  कृष्ण तो कभी भीम, कभी अर्जुन के ...

युद्ध वर्णन - चक्रव्यूह
द्वारा Himanshu Singh
  • (31)
  • 1.9k

चक्रव्यूह ============================= अभिमन्यु को देखा ऐसा लग रहा था मानो स्वयं कामदेव ने पुष्पबाण छोडकर कालदंड धारण कर लिया हो अथवा महादेव पिनाक धारण करके रथ पर बैठ चले ...

उर्वशी और पुरुरवा
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • (78)
  • 4.9k

प्रेम और बिछोह की अनगिनत कहानियां हमारे साहित्य में हैं। लेकिन सबसे प्राचीन कहानी है उर्वशी और पुरुरवा की जिसका वर्णन ऋगवेद में भी मिलता है। पुरुरवा और उर्वशी ...

गार्गी एवं याज्ञवल्क्य संवाद
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • (17)
  • 2.6k

हो सके। गार्गी तथा याज्ञवल्क्य संवाद ब्रह्म को समझने में हमारी सहायता करता है। सभी वस्तुएं ब्रह्म से उत्पन्न होकर उसी में लीन हो जाती हैं। वेदों में इसी परम ...

ऋषि उद्दालक एवं श्वेतकेतु
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • (11)
  • 2.2k

ऋषि उद्दालक एवं श्वेतकेतु की यह कथा एक पिता व पुत्र के बीच हुए संवादों के माध्यम से ब्रह्म के गूढ़ ज्ञान को बहुत आसान व तीर्किक तरीके से ...

श्रेष्ठ नर्तकी कौन
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • (13)
  • 1.4k

यह कथा एक बहुत ही महत्वपूर्ण संदेश देती है। गुण एवं शक्ति में एक समान होते हुए भी जीवन में वही सफल होता है जो तनावपूर्ण स्थिति में भी ...

सत्यकाम जबाला
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • (15)
  • 2k

सत्यकाम एक दासी का पुत्र था।सत्यकाम की कथा इस बात का उदाहरण है कि एक स्त्री जो यह भी नहीं जानती थी कि उसके पुत्र का पिता कौन है, ...

नचिकेता
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • (20)
  • 3k

नचिकेता की कथा अनन्या के विरुद्ध आवाज़ उठाने तथा सत्य पथ पर चलते हुए अटल रहने की शिक्षा देती है। नचिकेता की कहानी कठोपनिषद से ली गई है। वह एक ...

अष्टावक्र
द्वारा Ashish Kumar Trivedi
  • (26)
  • 2.3k

वर्तमान समय में भी हमारा सारा ध्यान बाहरी प्रगति पर ही है। आज हम बाहरी दिखावे पर अधिक ध्यान देते हैं। बहुत से लोग अपने शरीर की बनावट या ...

प्रेम के देवता : कामदेव
द्वारा Kirti Trambadiya
  • (40)
  • 5.7k

कामदेव, जो काम, वासना और रूप के देव माने जाते हैं, उनके बारे में लोगों ने सुन बहुत रखा है लेकिन जानते कम ही हैं। कामदेव का हिंदू संस्कृति ...