अनजाने लक्ष्य की यात्रा पे- भाग -22 Mirza Hafiz Baig द्वारा रोमांचक कहानियाँ में हिंदी पीडीएफ

अनजाने लक्ष्य की यात्रा पे- भाग -22

Mirza Hafiz Baig द्वारा हिंदी रोमांचक कहानियाँ

पिछले भाग में आपने पढ़ा- अपने मित्र गेरिक, अभियान सहायक और सेनापति के राजनीतिक षड्यंत्रो से व्यापारी क्षुब्ध है। क्या उसकी शंकाओं का निवारण होता है? आगे कहानी क्या मोड़ लेती है? पढ़िये अगला भाग ------ अनजाने लक्ष्य की ...और पढ़े