मेरे लफ़्ज़ मेरी कहानी - 2 monika kakodia द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

मेरे लफ़्ज़ मेरी कहानी - 2

monika kakodia द्वारा हिंदी कविता

अल्फ़ाज़ जो हर पल अपने से लगते हैं , जज़्बात जो महसूस होते हैं