आखिरी ख़त Roopanjali singh parmar द्वारा पत्र में हिंदी पीडीएफ

आखिरी ख़त

Roopanjali singh parmar मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी पत्र

रुद्र,रुद्र मैंने यह खत तुम्हें इसलिए नहीं लिखा कि एक बार फिर तुमसे यह कह सकूं कि मैं तुमसे प्यार करती हूँ, न अपनी कमी का एहसास दिलाना है तुम्हें।अजीब बात है न रुद्र जब मैं तुमसे प्यार करती ...और पढ़े