रुख़सार,, Nirpendra Kumar Sharma द्वारा प्रेरक कथा में हिंदी पीडीएफ

रुख़सार,,

Nirpendra Kumar Sharma द्वारा हिंदी प्रेरक कथा

साल 1992 उत्तरप्रदेश का एक छोटा सा गांव -अम्मी,, अम्मी आप समझाइये ना अब्बू को,,, रुखसार अपनी बड़ी-बड़ी काली आंखों में मोटे-मोटेआंसू लिए अपनी अम्मी के पीछे-पीछे डोल रही थी।अम्मी में एक बार उसकी तरफ देखा और मुंह घुमा ...और पढ़े